गोवर्धन वासी सांवरे Govardhan Wasi Sanwarey Lyrics – Shri Indresh Upadhyay Ji

Govardhan Wasi Sanwarey Lyrics in Hindi and English. This song is sung by , with lyrics written by Shri Chaturbhuj Das Ji and music created by .

Govardhan Wasi Sanwarey Song Details

Song Title Govardhan Wasi Sanwarey
Singer Shri Indresh Upadhyay Ji
Lyrics Shri Chaturbhuj Das Ji
Music  Jeetu Gaba
Music Label BhaktiPath

▶ See the music video of Govardhan Wasi Sanwarey Song on BhaktiPath YouTube channel for your reference and song details.

Govardhan Wasi Sanwarey Lyrics

गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे
तुम बिन रह्यो न जाये
गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे

बंके चिते मुसकाये के
सुंदर वदन दिखाय
लोचन तड़फे मीन जो
जग भर धरी बिहाय
गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे

सप्तक स्वर बंधान सों लाल
मोहन वेणु बजाय
सुरत सुहाइ बांधिके
मधुरे मधुर स्वर गाय
गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे

रसिक रसीली बोलनी
गिरि चढि गाय बुलाय
गाय बुलाई दूधरी नेंक
ऊँची टेर सुनाय
गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे

दृष्टि पड़े जा दोष ते
तब ते रुचे ना आवे
रजनी नींद न आवरी
एहि विसरे भोजन पान
गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे

दर्शन को नैना तपे
बचन सुनन करे कान
मिलिवे को हीयरा तपे
जिय के जीवन प्राण हों
हिय की जीवन प्राण
गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे

मन अभिलाषा यह रहे
लगे न नैन निमेष
एक टक देखूं आवतो
नटवर नागर भेष
गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे

See also  गौरी गणेश मनाऊँ Gauri Ganesh Manau Aaj Sudh Lije Hamari Lyrics - Maithili Thakur

पूर्ण शशि मुख देख के
चित चोट्यो बहि ओर
रूप सुधा रसपान को
जैसे चंद्र चकोर
गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे

लोक लाज विधि वेद के
छँड़े सबई विवेक
कमल कली रवि ज्यों बढे
छिन छिन प्रीति विशेष
गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे

मन मथ कोटिक वरिने
देखी डगमगी चाल
युवती जन मन फंदना
अंबुज नयन विशाल
गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे

यह रट लागी लाडिले
जैसे चातक मोर
प्रेम नीर वर्षा करो
नवघन नंदकिशोर
गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे

कुंज भवन क्रीडा करे
सुखनिधि मदन गोपाल
हम वृंदावन मालती
तुम भोगी भ्रमर भूपाल
गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे

युग युग अविचल राखिये
यह सुख शैल निवास
श्री गोवर्धनधर रूप पें
बलजाय चतुर्भुज दास
गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे
तुम बिन रह्यो न जाये
गोवर्धन वासी सांवरे
गोवर्धन वासी सांवरे

Leave a Comment

2024: Tales of Hope, Resilience, and New Beginnings 10 motivational quotes by Jackie Chan 10 motivational quotes by Sundar Pichai