नारायण मिल जायेगा Narayan Mil Jayega Lyrics – Jubin Nautiyal

Narayan Mil Jayega Lyrics in Hindi and English. This song is sung by , lyrics written by Manoj Muntashir, and music created by .

Narayan Mil Jayega Song Details

Song Title Narayan Mil Jayega
Singer Jubin Nautiyal
Lyrics Manoj Muntashir Shukla
Music Payal Dev
Music Label T-series
▶ See the music video of Narayan Mil Jayega Song on T-series YouTube channel for your reference and song details.

Narayan Mil Jayega Lyrics in English

Prem prabhu ka baras raha hai
Pi le amrut pyase
Saato tirath tere andar
Bahar kise talase

Kan kan me hari kshan kshan me hari
Muskano me aanuvan me hari
Man ki aankhe tune kholi
To hi darshan payega
Pata nahi kis roop main aakar
Narayan mil jayega
Pata nahi kis roop main aakar
Narayan mil jayega

Niyati bhed nahi karti
Jo leti hai wo deti hai
Jo boyega wo katega
Ye jag karmo ki kheti hai

Niyati bhed nahi karti
Jo leti hai wo deti hai
Jo boyega wo katega
Ye jag karmo ki kheti hai

Yadi karm tere pawan hai sabhi
Dubegi nahi teri naav kabhi
Teri bah pakadne ko
Wo bhes badal ke aayega

Pata nahi kis roop main aakar
Narayan mil jayega
Pata nahi kis roop main aakar
Narayan mil jayega

Neki vyarth nahi jati
Hari lekha jokha rakhte hai
Oro ko ful diye jisne
Uske bhi hath mahekte hai

Neki vyarth nahi jati
Hari lekha jokha rakhte hai
Oro ko ful diye jisne
Uske bhi hath mahekte hai

Koi deep mile to baati ban
Tu bhi to kisi ka sathi ban
Man ko mansarovar kar le
To hi moti payega

Pata nahi kis roop main aakar
Narayan mil jayega
Pata nahi kis roop main aakar
Narayan mil jayega

Kaan lagake baatein sun le
Sukhe hue darkhkto ki
Leta hai bhagwan pariksha
Sabse pyaare bhakto ki

Ek prashn hai gehra jiski
Hari ko thah lagani hai
Teri shraddha sona hai
Ya bas sone ka pani hai

Jo phool dhare har daali par
Viswas to rakh us mali par
Tere bhagya mai patthar hai to
Patthar hi khil jayega
Pata nahi kis roop main aakar
Narayan mil jayega

Pata nahi kis roop main aakar
Narayan mil jayega
Pata nahi kis roop main aakar
Narayan mil jayega

Narayan Mil Jayega Lyrics in Hindi

प्रेम प्रभु का बरस रहा है
पी ले अमृत प्यासे
सातो तीरथ तेरे अंदर
बहार किसे तलाशे

कण कण में हरि क्षण क्षण में हरि
मुस्कुराओ में आणुवन
में हरि मन की आंखे तूने खोली
तो ही दर्शन पाएगा
पता नहीं किस रूप में आकर
नारायण मिल जाएगा
पता नहीं किस रूप में आकर
नारायण मिल जाएगा

नियति भेद नहीं करती
जो लेती है वो देती है
जो बोयेगा वो काटेगा
ये जग करमो की खेती है

नियति भेद नहीं करती
जो लेती है वो देती है
जो बोयेगा वो काटेगा
ये जग कर्मो की खेती है

यदी कर्म तेरे पावन है सभी
डूबेगी नहीं तेरी नाव कभी
तेरी बाह पकड़ने को
वो भेस बदल के आएगा

पता नहीं किस रूप में आकार
नारायण मिल जाएगा
पता नहीं किस रूप में आकार
नारायण मिल जाएगा

नेकी व्यर्थ नहीं जाती
हारी लेखा जोखा रखते हैं
ओरो को फुल दिए जिसने
उसके भी हाथ महकते हैं

नेकी व्यथ नहीं जाती
हारी लेखा जोखा रखते हैं
ओरो को फुल दिए जिसने
उसके भी हाथ महेकते हैं

कोई गहरी मील तो बाती बन
तू भी तो किसी का साथी बन
मन को मानसरोवर कर ले
तो ही मोती पाएगा

पता नहीं किस रूप में आकार
नारायण मिल जाएगा
पता नहीं किस रूप में आकार
नारायण मिल जाएगा

कान लगाके बातें सुन ले
सूखे हुए दरख्तों की
लेता है भगवान परीक्षा
सबसे प्यारे भक्तों की

एक प्रश्न है गहरा जिसकी
हारी को था लगानी है
तेरी श्रद्धा सोना है
या बस सोने का पानी है

जो फूल धरे हर डाली पर
विश्वास तो रख उस माली पर
तेरे भाग्य माई पत्थर है तो
पत्थर ही खिल जाएगा
पता नहीं किस रूप में आकर
नारायण मिल जाएगा

पता नहीं किस रूप मैं आकार
नारायण मिल जाएगा
पता नहीं किस रूप में आकार
नारायण मिल जाएगा

Leave a Comment

Paudi Paudi Chadta Ja Lyrics – Lata Mangeshkar 2024: Tales of Hope, Resilience, and New Beginnings 10 motivational quotes by Jackie Chan