BHARI MEHFIL LYRICS IN HINDi- Ikka, Sunidhi Chauhan | Only Love Gets Reply

Bhaari Mehfil Lyrics in Hindi: The Punjabi song is sung by & , and music is composed by Sanjay while Ikka has written the Bhaari Mehfil lyrics.

Bhari Mehfil Song Details

📌 Song Title Bhari Mehfil
🎞️Album
🎤Singer Ikka, Sunidhi Chauhan
✍️Lyrics Ikka
🎼Music
🏷️Music Label

▶ See the music video of Bhari Mehfil  Song on T-Series YouTube channel for your reference and song details.

BHARI MEHFIL LYRICS

Na bhari mehfilon mein bulaya karo
Tanhaiyan naraz ho jati hain
Neend aankhon se ojhal nasha ho gaya
Par woh aaram se kitne so jati hai

Tumne dillagi ki naamajein padhayi
Humne to wafa mein wafa hi na payi
Hum patjhad ke patton se hai bikhre bikhre
Mila sard mausam aur uski ruswahi

Hum ashko mein apne hi dube rahe 
Na kinaro se usne aawazein lagayi
Hum reh reh kaid apni hi siskiyo mein
Kya tu rone ki deta humko kamayi

Haan sote ke fir se woh sapno mein aayi
Phir aankhein khuli aur wo kho jaati hain
Neend aankhon se ojhal nasha ho gaya
Par woh aaram se kitne so jati hai

Tumko pata na ke kya humpe beete
Khudse tum puchho ke kya keh diya
Shaq se na chalti mohabbat ki sansein
Jaane bina bewafa keh diya

Main teri ki teri hoon teri kasam
Tera dil todu aisa gunah na kiya
Bayaan na kar paaun ke kitna asar
Dard jo tune wafa ko diya

Taqlifon mein din mere dhalte rahe
Aur ashqon mein shaamein guzar jati hain
Unse khafa par na unko khabar
Ye deewani bhi uski na so paati hai

Tanha raaton mein ek naam yaad aata hai
Kabhi subah kabhi shaam yaad aata hai
Jab sochte hai kar le dubara se mohabbat 
Teri mohabbat ka anjaam yaad aata hai

Zakhm dekar na pooch mere dard ki shiddat
Dard to dard kam jyada kya 
Dil pe haath rakh ke khudse se puch 
Kya main tujhe yaad nahi aata kya

Mila sukoon mere dil ko jab jalayi
Jo sambhal lagi photo yaar ki
Kokhle the rookhe murjha se gaye
Us bete ko na mila dhoop pyar ki

Raatein maangti saath meri aankhon se
Bahot bhari chadha neend ka jo karja hai
Haan yaad aaya tere jo the aakhri alfaj
Jee sake to jee lena mar jaye to hi achha hei

Wo har kone mein humko dekhe sunaye
Na awaaz khamosh ho paati hai
Neend aankhon se ojhal nasha ho gaya
Par woh aaram se kitne so jati hai

Written by:
Ikka

 

भरी महफ़िल LYRICS IN HINDI

ना भरी महफिलों में बुलाया करो
तन्हाइयाँ नाराज़ हो जाती हैं
नींद आँखों से ओझल नशा हो गया
पर वो आराम से कितने सो जाती है

तुमने दिल्लगी की नमाज़ें पढ़ाई
हमने तो वफ़ा में वफ़ा ही न पाई
हम पतझड़ के पत्तों से हैं बिखरे बिखरे
मिला सर्द मौसम और उसकी रुसवाई

हम अश्कों में अपने ही डूबे रहे
ना किनारों से उसने आवाज़ें लगाई
हम रह रह कैद अपनी ही सिसकियों में
क्या तू रोने की देता हमको कमाई

हाँ सोते के फिर से वो सपनों में आई
फिर आँखें खुली और वो खो जाती है
नींद आँखों से ओझल नशा हो गया
पर वो आराम से कितने सो जाती है

तुमको पता ना के क्या हमपे बीते
खुदसे तुम पूछो के क्या कह दिया
शक से ना चलती मोहब्बत की साँसें
जाने बिना बेवफ़ा कह दिया

मैं तेरी की तेरी हूँ तेरी कसम
तेरा दिल तोड़ू ऐसा गुनाह ना किया
बयां ना कर पाऊँ के कितना असर
दर्द जो तूने वफ़ा को दिया

तकलीफों में दिन मेरे ढलते रहे
और अश्कों में शामें गुज़र जाती हैं
उनसे खफा पर ना उनको खबर
ये दीवानी भी उसकी ना सो पाती है

तन्हा रातों में एक नाम याद आता है
कभी सुबह कभी शाम याद आता है
जब सोचते हैं कर लें दोबारा से मोहब्बत
तेरी मोहब्बत का अंजाम याद आता है

ज़ख्म देकर ना पूछ मेरे दर्द की शिद्दत
दर्द तो दर्द कम ज्यादा क्या
दिल पे हाथ रख के खुदसे से पूछ
क्या मैं तुझे याद नहीं आता क्या

मिला सुकून मेरे दिल को जब जलायी
जो संभाल लगी फोटो यार की
कोखले थे रूखे मुरझा से गए
उस बेटे को ना मिला धूप प्यार की

रातें मांगती साथ मेरी आँखों से
बहुत भारी चढ़ा नींद का जो कर्जा है
हाँ याद आया तेरे जो थे आखिरी अल्फ़ाज़
जी सके तो जी लेना मर जाए तो ही अच्छा है

वो हर कोने में हमको देखे सुनाए
ना आवाज़ खामोश हो पाती है
नींद आँखों से ओझल नशा हो गया
पर वो आराम से कितने सो जाती है

Written by:
Ikka



Leave a Comment

अनंत अंबानी की शादी से पहले छाए नीता अंबानी की ये 7 तस्वीरें Paudi Paudi Chadta Ja Lyrics – Lata Mangeshkar 2024: Tales of Hope, Resilience, and New Beginnings