शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार Shivji Hain Shirshti Ke Aadhara Lyrics – Ravi Raj

Shivji Hain Shirshti Ke Aadhara Lyrics in Hindi and English, Sung by , lyrics written by and music composed by .

Shivji Hain Shirshti Ke Aadhara Bhajan Details

Shiv Bhajan Shivji Hain Shirshti Ke Aadhara
Singer Ravi Raj
Lyrics Sanjay Tiwari
Music Lovely Sharma
Music Label Shiv Mandir
▶ See the music video of Shivji Hain Shirshti Ke Aadhara Song on Shiv Mandir YouTube channel for your reference and song details.

Shivji Hain Shirshti Ke Aadhara Lyrics in English

Om namah shivay
Om namah shivay

Shiv ji hain shrishti ke aadhar
Shiv ji hain shrishti ke aadhar

Satya hi shiv hai, shiv hi sundar
Satya hi shiv hai, shiv hi sundar
Shiv se hi sansar
Shiv ji hain shrishti ke aadhar
Shiv ji hain shrishti ke aadhar

Brahma, vishnu sang aaye
Dekh shiv ji muskaye
Dono ko aasan dekar
Vo aadar sahit bithaye
Dono ko aasan dekar
Vo aadar sahit bithaye

Brahma ji shiv se bole
Raj vo dil ka khole
Dono mein kaun bada hai
Bata do he bam bhole
Dono mein kaun bada hai
Bata do he bam bhole

Aap jo kah denge hum dono
Aap jo kah denge hum dono
Kar lenge swikar
Shiv ji hain shrishti ke aadhar
Shiv ji hain shrishti ke aadhar

Vishnu ji khoj ke haare
Pata lagane na paaye
Ant mein haar maankar
Vishnu ji wapas aaye
Ant mein haar maankar
Vishnu ji wapas aaye

Brahma bhi dhundh na paaye
Vo man hi man pachtaye
Vishnu gar dhundh liye to
Vo humse badha ho jaye
Vishnu gar dhundh liye to
Vo humse badha ho jaye

Kaun upay karu brahma ji
Kaun upay karu brahma ji
Karne lage vichar
Shiv ji hain shrishti ke aadhar
Shiv ji hain shrishti ke aadhar

Kewda ke phool ko dekhe
Brahma man hi man harshaye
Kewda ke phool se apni
Vo saari baat bataye
Kewda ke phool se apni
Vo saari baat bataye

Brahma kewda ke sang aaye
Mahadev ko samjhaye
Kewda ko mastak pe
Chadha kar sang mein laye
Kewda ko mastak pe
Chadha kar sang mein laye

Kaun badha ab to bataye
Kaun badha ab to bataye
Karak soch vichar
Shiv ji hain shrishti ke aadhar
Shiv ji hain shrishti ke aadhar

Hue krodhit tripurari
Garjana hui hai bhari
Toota satambh ling to
Prakat bhaye rab avatari
Toota satambh ling to
Prakat bhaye rab avatari

Shiv ne aadesh diya hai
Brahma ke shiv ko udaao
Kaat ke lao bhairav
Tanik na der lagao
Kaat ke lao bhairav
Tanik na der lagao

Shraap diye kewda ko puja mein
Shraap diye kewda ko puja mein
Na kare koi swikar
Shiv ji hain shrishti ke aadhar
Shiv ji hain shrishti ke aadhar

Shivji Hain Shirshti Ke Aadhara Lyrics in Hindi

ॐ नमः शिवाय
ॐ नमः शिवाय

शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार

शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार

सत्य ही शिव है, शिव ही सुन्दर
सत्य ही शिव है, शिव ही सुन्दर
शिव से ही संसार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार

शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार

ब्रह्मा, विष्णु संग आये
देख शिव जी मुस्काये
दोनों को आसान देकर
वो आदर सहित बिठाये
दोनों को आसान देकर
वो आदर सहित बिठाये

ब्रह्मा जी शिव से बोले
राज वो दिल का खोले
दोनों में कौन बड़ा है
बता दो हे बम भोले
दोनों में कौन बड़ा है
बता दो हे बम भोले

आप जो कह देंगे हम दोनों
आप जो कह देंगे हम दोनों
कर लेंगे स्वीकार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार

विष्णु जी खोज के हारे
पता लगने न पाए
अंत में हार मानकर
विष्णु जी वापस आये
अंत में हार मानकर
विष्णु जी वापस आये

ब्रह्मा भी ढूंढ न पाए
वो मन ही मन पछताए
विष्णु गर ढूंढ लिए तो
वो हमसे बढ़ा हो जाये
विष्णु गर ढूंढ लिए तो
वो हमसे बढ़ा हो जाये

कौन उपाय करूँ ब्रह्मा जी
कौन उपाय करूँ ब्रह्मा जी
करने लगे विचार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार

केवड़ा के फूल को देखे
ब्रह्मा मन ही मन हरसाए
केवड़ा के फूल से अपनी
वो सारी बात बताये
केवड़ा के फूल से अपनी
वो सारी बात बताये

ब्रह्मा केवड़ा के संग आये
महादेव को समझाए
केवड़ा को मस्तक पे
चढ़ा कर संग में लाये
केवड़ा को मस्तक पे
चढ़ा कर संग में लाये

कौन बढ़ा अब तो बताये
कौन बढ़ा अब तो बताये
करके सोच विचार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार

हुए क्रोधित त्रिपुरारी
गरजना हुई है भारी
टूटा सतम्ब लिंग तो
प्रकट भये रब अवतारी
टूटा सतम्ब लिंग तो
प्रकट भये रब अवतारी

शिव ने आदेश दिया है
ब्रह्मा के शिव को उड़ाओ
काट के लाओ भैरव
तनिक न देर लगाओ
काट के लाओ भैरव
तनिक न देर लगाओ

श्राप दिए केवड़ा को पूजा में
श्राप दिए केवड़ा को पूजा में
ना करे कोई स्वीकार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार
शिव जी हैं श्रृष्टि के आधार

Leave a Comment

Paudi Paudi Chadta Ja Lyrics – Lata Mangeshkar 2024: Tales of Hope, Resilience, and New Beginnings 10 motivational quotes by Jackie Chan